Home Blog

रुई बत्ती के व्यापार की पूरी जानकारी। Cotton Wicks Business in Hindi

0
Cotton Wicks Business Plan

Cotton Wicks Business in Hindi ।  रुई बत्ती के व्यापार की पूरी जानकारी

Cotton Wicks Business और रुई बत्ती के व्यापार की पूरी जानकारी आपको इस Post मे मिल जाएगी।

जैसे की, आपको कितनी Machines खरीदनी होगी ? Raw material का Price क्या होगा ? कितने लोगो की ज़रूरत होगी ? 1 किलो रुई की बत्ती पर आपको कितना Profit हो सकता है ? Cotton Wicks को आप कहाँ बेच सकते हो ? 

Cotton Wicks Business in Hindi 

हिन्दी मे Cotton Wick को रुई की बत्ती कहते है। आप खुद जानते होंगे इसका इस्तेमाल India मे बहुत सारी जगहों पर किया जाता है।

जैसे की, घरो मे, मंदिरो मे, Office मे, School मे, Hospital मे और भी बहुत सारी जगहो पर।

Cotton Wicks दो तरह की होती है। Long Cotton Wicks और नीचे से Round Shape वाली Cotton Wicks. इन दोनों को Manually भी बनाया जा सकता है और Machine की मदद से भी।

अगर आप Manually बनाकर बेचना चाहते हो तो आपको सिर्फ ऐसे लोगो की ज़रूरत होगी जो Cotton Wicks बनाना जानते हो। आपको उनसे Cotton Wicks बनवानी है और Pack करके Market मे बेचनी होगी।

Manually Long Cotton Wick Making

लेकिन दोस्तो जो Cotton Wicks Manually बनाई जाती है वो Size और Shape मे उतनी Perfect नहीं होती है जिनती मशीन से बनी हुई Cotton Wicks होती है।

इसके अलावा Machine से आपकी Production Capacity भी बढ़ जाती है मतलब कम समय मे ज़्यादा Cotton Wicks बनाई जा सकती है।

Cotton Wick Machine (रुई बत्ती बनाने की मशीन)

अगर आप Cotton Wick Machine लेकर इस Business की शुरुवात करते हो तो आपको 2 मशीन खरीदनी होगी। एक मशीन Long Cotton Wicks बनाने के लिए और दूसरी Round Shape वाली Cotton Wicks बनाने के लिए।

Long Cotton Wicks Making Machine:-

ये Machine 10000 हजार रूपए से लेकर 50000 रूपए तक मिल जाएगी। Machine आप जो भी Price मे खरीदोगे उसके उपर आपको 18% GST भी देना होगा।

Long Cotton Wick Machine 2 type मे आती है। Manually Operated और Semi-Automatic.

  • Manually Operated :- ये 10 से 15 हजार के आस पास आती है।
  • Semi-Automatic:- ये 25 से 30 हजार के आस पास।   

इस मशीन से आप एक दिन मे 3 से 4 किलो Cotton Wicks बना सकते हो। इसके अलावा ये Single Phase पर चलती है आप चाहें तो इसे अपने घर मे भी install करवा सकते है।

Read More:-

Round Shape Cotton Wick Making Machine:-

ये Machine 20 हजार रुपए से लेकर 35 हजार रुपए तक मिल जाएगी। इसमें भी आपको 18% GST Extra देना होगा।

8 घंटे में ये मशीन लगभग 4 किलो Cotton Wicks बना सकती है। इसको भी आप घर पर Install करवा सकते है  क्योंकि ये भी Single phase पर चलती है।

अगर आप ये दोंनो मशीन ख़रीदते है तो आपको 40 हजार से लेकर 80 हजार रुपए तक की ज़रूरत होगी।

इनके अलावा आपको 2 और Machines की ज़रूरत होगी।

1) Weighing Machine: –

Cotton Wicks का वजन करने के लिए आपको इस मशीन की ज़रूरत होगी। ये मशीन आपको 500 रुपए से लेकर 800 रुपए तक मिल जाएगी।

2) Packing Machine: –

दोस्तों तैयार Cotton Wicks को छोटे छोटे Pouch में Pack करने के लिए आपको इस Machine की ज़रूरत होगी। ये मशीन आपको 800 रुपए से लेकर 1200 रुपए तक मिल जाएगी।

Raw Material for Cotton Wicks Business ( रुई बत्ती बनाने के लिए ज़रूरी कच्चा माल) 

1) Cotton:-

Cotton Wicks बनाने के लिए सबसे Main raw material होता है Cotton. ये आपको 150 रुपए से लेकर 250 रुपए किलो तक मिलेगा।

Raw Cotton

आप जितनी ज़्यादा Quantity में खरीदेंगे आपको उतना ही सस्ता मिलेगा। अगर आप बहुत कम Quantity में ख़रीदते है तो आपको ज़्यादा Price pay करना होगा।

2) Colors:-

अगर आप Cotton Wick को Colorful बनाना चाहते है तो आपको अलग अलग Colors की भी ज़रूरत होगी। आप Food Colors का इस्तेमाल कर सकते है।

3) Perfume:-

अगर आप सुगंध वाली Cotton Wicks बनाकर बेचना चाहते है तो आपको Perfume की भी ज़रूरत होगी।

Perfume आपको 500 रुपए से लेकर 2000 रुपए लीटर तक मिल जाएगा। आप अपनी requirement के हिसाब से खरीद सकते है।

4) Packaging Material:-

तैयार Cotton wicks को आप जिस Size में Pack करना चाहते है उसके हिसाब से आपको Plastic के pouch ख़रीदने होंगें।

आप चाहें तो Plastic के box में भी pack करके बेच सकते है। आपका Packing जितना अच्छा होगा उतना ही आपका Product महँगा बिकेगा।

तो दोस्तों आपको इन Raw Materials की ज़रूरत होगी Cotton Wicks Business की शुरुवात करने के लिए। चलिए अब बात कर लेते है Process के बारे में, रुई बत्ती को बनाया कैसे जाता है वो जान लेते है।

Cotton Wick Making Process (रुई बत्ती बनाने की प्रक्रिया)

दोस्तो Cotton Wicks बनाना बहुत ही आसान है। सबसे पहले जान लेते है Long Cotton Wicks को कैसे बनाया जाता है।

Long Cotton Wicks Making Process:-

इसे बनाने के लिए आपको थोड़ा सा Cotton लेकर Machine के ऊपर बनी die मे रखना होगा। उसके बाद मशीन Automatically उस Cotton को अंदर की तरफ खींचकर, Long Cotton Wick बना देगी। 

उसके बाद Cotton Wick को बाहर निकालकर इखठा कर लीजिए और Packing करके Market में बेचने के लिए भेज दीजिए।

Round Shape Cotton Wick Making Process:-

इसमें आपको Machine के Side मे से थोड़ा Cotton तोड़ना है और फ़िर उसके 2 तुकडे करके मशीन के ऊपर बनी die मे लगा देना है।

उसके बाद मशीन Automatically रुई को Round Shape वाली Cotton Wick बना देगी और नीचे की तरफ़ धकेल देगी।

तो दोस्तों आप ख़ुद समझ गए होंगे Cotton wicks बनाना कितना आसान है। चलिए अब बात कर लेते है इन Cotton Wicks को Color कैसे किया जाता है।

Coloring Process of Cotton Wicks:- 

Colors

आपने देखा होगा Market में रंग बिरंगी Cotton Wicks भी मिलती है अगर आप भी वैसी बनाना चाहते है तो आपको 3 चीजों की ज़रूरत होगी।

  •  आरारोट Powder
  •  पानी
  •  Food Color

सबसे पहले आपको आरारोट Powder में पानी मिलाना है और उसके बाद थोड़ा सा Color डालकर अच्छे से Mix कर लेना है।

उसके बाद अपने अँगूठे और अंगुली को मिश्रण में डुबोकर Cotton Wicks के ऊपर अच्छे से लगा देना है और सूखने के लिए छोड़ देना है।

Finally आपकी Colorful Cotton Wicks Ready हो जाएगी। जिसको आप Pack करके Market में बेचने के लिए भेज सकते हो।

Profit Calculation for 1 k.g. Cotton Wicks.

1 किलो Cotton Wicks बनाने के लिए आपको ज़रूरत होगी 1 किलो Cotton की। हम मान के चलते है की आपने Cotton ख़रीदा 220 रूपए किलो।

Electricity और बाकी Raw Material का हम पकड़ लेते है Maximum 10 रुपया। ये मशीन ज़्यादा Electricity Consume नहीं करती है आपको Actual price 10 रूपए से भी कम ही पड़ेगा।

तो Total होता है।   220+10 = 230  

मतलब 230 रूपए मे 1 किलो Cotton Wicks बनकर तैयार हो जाएगी।

Market मे जो 10 rs का Pouch मिलता है उसमे 10 ग्राम Cotton Wicks आती है। तो 1 किलो मे 10 ग्राम के Total 100 Pouch तैयार हो जाएंगे।

100 Pouch Pack करने का Maximum Cost आएगा 50 रुपया। हमने 1 Pouch का Cost 0.50 पैसा जोड़ा है।

Read More:- 

तो 10 रूपए वाले 100 Pouch 280 रूपए मे बनकर तैयार हो जाएंगे। जो Retail मे 1000 रूपए मे बिकेंगे।

अगर आप तैयार माल Wholesaler को बेचते है तो 450 रूपए से लेकर 500 रूपए तक आसानी से बिक जाएगा।

मतलब 1 किलो Cotton Wicks पर आपको 170 रूपए से लेकर 220 रूपए तक का Profit हो सकता है।

एक मशीन दिन मे कम से कम 3 किलो Cotton Wicks बनाती है। तो एक मशीन से आप दिन का 500 से लेकर 600 रूपए तक का Profit कर सकते है।

Note:- हमने Cotton का Price बहुत ज़्यादा पकड़ा है। अगर आप ज़्यादा Quantity मे खरीदेंगे तो आपको 150 से 200 रूपए के बीच मे मिल जाएगा।

आप जितना सस्ता Cotton खरीदेंगे आपका Profit उतना ही ज़्यादा होगा। इसके अलावा आप Packaging पर जितना ज़्यादा खर्चा करेंगे आपका Products उतना ही महंगा बिकेगा।

तो आपको एक Roughly Idea आ गया होगा की आप Cotton Wicks Business से कितना कमा सकते है। चलिए अब बात कर लेते है इस Business की शुरुवात करने के लिए आपको कितने लोगो की ज़रूरत होगी

Labour Required for Cotton Wicks Business 

अगर आप एक मशीन खरीदते है तो आपको कम से कम 2 लोगो की ज़रूरत होगी। 1 Cotton Wicks को बनाने के लिए और दूसरा Marketing करने के लिए। 

कोई इंसान अगर ऐसा सोचता है की मैं एक मशीन लेकर अकेला इस Business की शुरुवात करूंगा। तो उसके  Success होने के Chances बहुत कम हो जाएंगे। क्यूंकी न तो वो Properly Marketing कर पाएगा और ना ही Cotton Wicks बना पाएगा।

अगर आप “Cotton Wicks Business” की शुरुवात करना चाहते है तो आपको Marketing पर ध्यान देना चाहिए और लोगो को Hire करके उनसे काम करवाना चाहिए।

एक मशीन से रोज का 600 700 रुपया Profit होता है तो आप 300 – 350 रुपया Per Day पर किसी को रखकर काम करवा सकते हो।

Alternate Option in Cotton Wicks Business 

अगर आपके पास मशीन खरीदने के लिए पैसे नहीं है तो बनी बनाई Cotton Wicks खरीदिए, उनको Pack कीजिए, और उनकी Marketing कीजिए।

बनी बनाई Cotton wicks आपको 300 रूपए से लेकर 350 रूपए किलो तक Indiamart की website से मिल जाएगी।

Long Cotton Wicks Business

दोस्तो बनी बनाई Cotton Wicks मे आपको Profit कम होगा। लेकिन आपका risk भी कम होगा। एक बार कुछ customers आपसे regular माल लेने लगे उसके बाद आप मशीन खरीदकर अपने business को और भी बढ़ा सकते हो।

चलिए दोस्तों अब जान लेते है की आप इन Cotton Wicks को बेचेंगे कैसे ??? क्यूंकि जब तक बिकेगा नहीं  Profit दिखेगा नहीं।

Where to Sell Cotton Wicks (रुई बत्ती को कहाँ बेंचे?)

दोस्तों हम आपको 2 तरीके बताने वाले है।

पहला तरीका:-

आपको अपना माल बेचने के लिए आपके आस पास के सभी Wholesalers और Retailers से जाकर मिलना होगा, उनसे जान पहचान बढ़ानी होगी, उनको अपना माल दिखाना होगा ताकि वो आपको Orders दे सके।

आप उनको कुछ Scheme Offer कर सकते हो। जैसे की, अगर कोई Wholesaler या Retailer इतना माल बेचेंगा तो आपकी Company की तरफ से उनको कुछ Gift मिलेगा।

Wholesalers और Retailers को कुछ ऐसे Benefits दीजिए जो आपका Competitor नहीं दे रहा हो।

आपके Actual Customers आपके Wholesalers और Retailers है उनको खुश रखिए आपका Business चलता रहेगा।

Read More:-

दूसरा तरीका:-

आपकी Company को Indiamart के साथ register कर लीजिए। ऐसा करने से आपको Cotton Wicks के Orders Bulk में मिल सकते है। क्यूंकि Indiamart पर ऐसी बहुत सारी Company visit करती है जिनको Bulk मे Cotton Wicks की Requirement होती है।

इसके अलावा आप Amazon और Filpkart के साथ register करके भी आपका माल बेच सकते है। Amazon और Filpkart से Sellers को बहुत अच्छा Support मिलता है। आपको वह से भी थोड़े थोड़े orders आना चालू हो जायेंगे…

तो दोस्तों ये वो 2 तरीके है जिनकी मदत से आपको orders आना शुरू हो जायेंगे। चलिए दोस्तो अब बात कर लेते है आप इन Machines को ख़रीदेंगे कहाँ से?

Where to Buy Cotton Wick Machine & Raw Material (मशीन और कच्चा माल कहाँ से खरीदे?) 

Machine ख़रीदने के लिए आप अपने आस पास के Manufacturer या फ़िर Suppliers से बात कर सकते है।

Cotton Wicks Business

अगर आपको पता नही है कि आपके आस पास में कौन ये Machine बनाता है तो आप Indiamart या फ़िर Justdial की Website पर Visit करके Check कर सकते हो।

आपको लिखना होगा Cotton Wick Machine Manufacturer in आपकी City का नाम। अगर आप पटना में रहते है तो लिखिए in Patna, Delhi में रहते है तो लिखिए in Delhi .

तो आपकी City के आस पास जितने भी Manufacturer या Suppliers होंगे उनके details आपको मिल जाएंगे।

आप उनसे Direct बात कर सकते है, उनकी Factory में Visit करके Machine का live demo देख सकते है।

अगर आपको मशीन पसंद आए तो आप ख़रीद सकते है। वरना किसी और Factory में जा सकते है।

दोस्तों मशीन खरीदने से पहले आपको कुछ चीज़ें ध्यान में रखनी चाहिए।

  • मशीन अच्छी Quality की हो।
  • जिससे मशीन ख़रीद रहे है वो आपके आस पास में ही हो, ताकि आपको After Sales Service मिल सके।
  • मशीन बेचने वाली Company का Background अच्छे से Check करले।
  • इसके अलावा Raw Material भी आपके आस पास में आसानी से Available होना चाहिए।

और सबसे ज़रूरी चीज़ मशीन ख़रीदने से पहले इस Business के बारे में Research ज़रूर कीजिए। पूरी Planning कर लीजिए उसके बाद ही कोई Decision लीजिए।

ताकि आपको बाद में कोई परेशानी ना उठानी पड़े। 

उम्मीद है आपको Cotton Wick Business Plan के बारे मे सारी जानकारी मिल गयी होगी।

आपके मन मे Cotton Wicks Business के बारे मे कोई भी सवाल है तो Comment Box में लिखकर पूछिए हम उसका जवाब ज़रूर देंगे।

इस Post  को उन सभी लोगो के साथ Share कीजिए जो Cotton Wicks Business शुरू करना चाहते है।

ख़ुश रहे और अपने आस पास सबको ख़ुश रखे।

VPN क्या है? What is VPN in Hindi

0
What is VPN in Hindi & VPN kya hai

What is VPN In Hindi (VPN क्या है?)

What is VPN in Hindi:- VPN का Full Form है Virtual Private Network. ये एक Service है जिसकी मदद से आप अपने Device(Laptop/Mobile) को Internet के साथ Safely और Privately Connect कर सकते हो।

VPN के through internet से connect होने के बाद, आप क्या Search करते हो? क्या Download करते हो? इसका पता कोई नहीं लगा सकता है।

इसके अलावा VPN आपके important और Sensitive data को Hackers से बचाने का काम भी करता है।

For e.g.:- जब आप कोई File VPN के through किसी और को भेजते हो, तो वो File encrypted format मे होती है। जिसकी वजह से कोई भी Hacker उस File के Data को access नहीं कर सकता है और ना ही उस Data के साथ छेड़-छाड़ कर सकता है।

What is VPN in hindi

VPN का इस्तेमाल ज़्यादातर Government Agencies, Educational Institution, Corporate और Online Business करने वाले व्यापारी करते है। ताकि वो अपने Data को Safe रख सके और दुनिया के किसी भी कोने से Privately Access कर सके।     

पिछले कुछ सालों से Personal VPN का इस्तेमाल भी लगातार बढ़ते जा रहा है क्यूंकी हर इंसान चाहता है की उसका Data Safe रहे और Internet पर वो क्या Search करता है इसके बारे मे किसी को भी पता ना चले।

इसके अलावा बहुत सारे देशो मे वहाँ की Government कुछ Websites को Block करवा देती है। ऐसी Websites पर Visit करने के लिए भी लोग Personal VPN का इस्तेमाल करते है।

VPN काम कैसे करता है ? (How does a VPN Work ?)

VPN के Working Model को हम Step by Step समझने की कोशिश करते है।

Step 1: सबसे पहले आप अपने VPN Software या Application मे Login करते है।

Step 2:- उसके बाद आप जिस Website पर Visit करना चाहते है वो Data Enter करते है।

Step 3:- फिर VPN आपके Data को Encrypt करता है। Encryption का process इतना fast होता है की आपका Original data ISP (Internet Service Provider) को भी नहीं दिखता।

Step 4:- उसके बाद Encrypted Data VPN Server पर जाता है।

Step 5:– फिर VPN Server से आपकी Destination Website पर। Destination Website मतलब वो website जिस पर आप Visit करना चाहते है।

Read More:-

जब आप बिना VPN के internet use करते है तो आपका Original Data आपकी location से Destination Website की तरफ़ Travel करता है। ये Completely Unsafe होता है क्यूंकी कोई भी आपके Data को देख सकता है और उसके साथ छेड़-छाड़ कर सकता है।

VPN का इस्तेमाल करने से आपका Data Encrypted Format मे Travel करता है। Data सबसे पहले VPN Server पर जाता है।

उसके बाद VPN Server आपके Behalf पर Destination Website से Interact करता है। Destination Website को लगता है की Request VPN Server से आई है।

कोई भी ये Identify नहीं कर सकता की Website Access करने की Request आपने दी है या फिर आपके Device(Computer/मोबाइल) से आई है।

अगर कोई देखना चाहता है की आप क्या Data भेज रहे हो तो उसको Encrypted Data दिखेगा। वो Original Data नहीं देख पाएगा।

VPN क्या कर सकता है? (What VPN can do?)

Virtual Private Network आपको बहुत सारे तरीको से Help कर सकता है। जैसे की,

1) आपकी Location और IP Address को छुपाने में:-

जब आप VPN के Through Internet पर कुछ Search करते है तो Request सबसे पहले VPN Server पर जाती है उसके बाद Destination Website पर।

VPN आपके IP Address को VPN Server के IP Address से change कर देता है। जिसकी वजह से Destination Website को VPN Server का IP Address दिखता है आपका नहीं।

किसी को भी ये पता नहीं चलता की Actual request आपके IP Address और Location से आई थी।

2) आपके Data को Encrypt करने में:-

VPN आपके Searches और Communications को Encrypt कर देता है जिसकी वजह से कोई भी Hacker आपके Original Data को देख नहीं सकता और ना ही कोई छेड़-छाड़ कर सकता है।

अगर Hacker आपके Data को देखने की कोशिश भी करेगा तो उसको Encrypted Data मिलेगा जिसको वो Decrypt नहीं कर पाएगा।

आपका Data Completely Safe रहता है और कोई भी उसका Misuse नहीं कर सकता है।

VPN Kya hai

3) Blocked Websites को Open करने में:-

कुछ Websites ऐसी होती है जिनको Government देश की भलाई के लिए Block कर देती है। VPN का इस्तेमाल करके आप ऐसी Blocked Websites को Open कर सकते हो।

Blocked Websites को open करने के लिए आपको अलग Country का VPN Server Select करना होता है।

VPN Software मे login करने के बाद आपको Country Choose करने का Option आता है। आप अपनी Country के अलावा कोई भी और Country का VPN Server Select कर सकते हो।

For e.g.:- अगर कोई Website India मे Block है तो आप USA या UK का VPN Server Select करके Open कर सकते हो।

क्यूकी Website को Indian Government ने block किया होगा लेकिन USA और UK की Government ने नहीं।

4) आपको जो Content देखना है वो दिखाने मे:-

अगर आप कोई ऐसी Film या Web series देखना चाहते हो जो आपकी Country मे अभी तक Release नहीं हुई है। तो VPN की मदद से आप वो देख सकते हो।

For e.g.:- कोई Web Series है जो USA मे Release हो चुकी है लेकिन India मे नहीं हुई है। तो उस Web series को India मे VPN की मदद से देखा जा सकता है।

VPN Software मे login करने के बाद आपको सिर्फ़ USA का VPN Server select करना होगा।

5) Online Activities को Unauthorized Users से बचाने में:-

Internet पर हम क्या Search करते है और क्या Download करते है इसके बारे मे सारी Information हमारे ISP (Internet Service Provider) और Government के पास होती है। क्यूंकी ये हमारी Online Activities को Track करते है।

अगर आप चाहते है की कोई भी आपकी Online Activities को Track ना कर पाए तो VPN की Help ले सकते है।

VPN का इस्तेमाल कैसे करें? (How to use VPN?)

Market में आपको 2 प्रकार के VPN मिल जायेंगे। Paid VPN और Free VPN.

Free VPN Service में Limited Features होते है वहीँ Paid VPN Service में ज़्यादा features होते है क्यूंकि आप इस Service के लिए Pay करते है।

अगर आप अपने Computer और Mobile में Free VPN Service use करना चाहते है तो निचे बताए तरीको का इस्तेमाल करे।

Computer के लिए Free VPN ( Free VPN Service for Computer)

Free VPN Service Computer में use करने के लिए निचे दिए गए Steps Follow कीजिए।

Step 1:- सबसे पहले आपको Opera Browser आपके Computer में Download करना होगा। Download करने के लिए निचे दी गई Link पर Click कीजिए।

https://www.opera.com/nl/download

Step 2:- Click करने के बाद आपके सामने एक Window Open हो जाएगी। जिसमे आपको 3 option दिखेंगे Windows, Mac और Linux. आप जो भी Operating System use कर रहे है उसके हिसाब से Select करके Download कर लीजिए और अपने Computer में Install कर लीजिए।

Opera VPN for Computer

Step 3:- उसके बाद आपको Opera Browser को Open करना है और Upper left hand side में लाल color का O लिखा होगा उस पर click करना है।

Free VPN for Computer

Step 4:- Click करने के बाद एक Drop Down Menu Open हो जाएगा। जिसमे से आपको Settings Option पर Click करना है।

Free VPN for Compute

Step 5:- उसके बाद एक New Window Open हो जाएगी जिसमे आपको Left Hand Side में Advance का Option दिखेगा उस पर click करना है। उसके बाद Privacy & Security पर Click करना है।

Step 6:- Privacy & Security पर Click करने के बाद Page को थोड़ा Scroll Down करना होगा। आपको वहाँ पर VPN का Option दिखेगा जिस पर Click करके VPN को Enabled कर लेना है।

Step 7:- उसके बाद VPN आपके Computer में Activate हो जायेगा। आप Opera Browser के Upper left hand side में देख सकता है VPN लिखा होगा।

Step 8:- अगर आप VPN Server Manually Select करना चाहते है तो VPN पर click करके Optimal Location पर click कीजिए। आपके सामने कुछ Options आ जाएंगे उनमे से आप Select कर सकते है। 

Free VPN for Computer

Mobile के लिए Free VPN ( Free VPN Service for Mobile)

Mobile में Free VPN Service use करने के लिए निचे दिए गए Steps follow कीजिए

Step 1:- सबसे पहले आपको Playstore (Android) या AppStore (iOS) में एक Application Search करनी होगी। Application का नाम है Hola Free VPN Proxy.

Free VPN App for Android

Step 2:- उसके बाद Hola Application को Mobile में Install कर लेना है।

Step 3:- फ़िर Term & Condition को Agree करना होगा। जिसके लिए आपको I AGREE पर Click करना होगा। 

how vpn works

Step 4:- उसके बाद Application के Upper Left Hand Side में एक Flag बना होगा। उस पर Click करना होगा।

Step 5:- Flag पर Click करने के बाद बहुत सारी Countries की List आ जाएगी। आप कोई भी Country का VPN Server Select कर सकते है।

Free VPN App for Android

Step 6:- उसके बाद आपके Mobile में जो Browser होगा उसे Select करके Start Button पर click करना होगा.

Free VPN App

Step 7:- Finally VPN Service आपके Mobile में Activate हो जाएगी।  

VPN के फ़ायदे (Advantages of VPN)

1) VPN आपकी Online Activities को छुपाता है।

जब आप VPN Service use करते है तो VPN आपके IP Address को change कर देता है और आपके Data को encrypt करता है। जिसकी वजह से कोई भी आपकी Online Activities को Track नहीं कर सकता है।

अगर आप VPN use नहीं करते है तो Hackers आपके IP Address को track कर सकते है और आपके Personal details चुरा सकते है।

आपका ISP(Internet Service Provider) भी आपकी Online Activities को Track कर सकता है और अपने फायदे के लिए आपके Data को Advertisers को बेच सकता है।

2) VPN आपको Bandwidth Throttling से बचाता है।

Bandwidth Throttling मतलब जब आपका ISP(Internet Service Provider) जान-बूझकर आपके Internet की Speed को Slow या फिर Fast कर देता है।

आपने experience किया होगा, कभी कभी आपका Internet बहुत slow चलता है। महीने मे कम से कम 2 3 बार तो ऐसा होता ही है।

आपका Internet Service Provider ये जान-बूझकर करता है ताकी Network मे Congestion ना हो और सभी Users को Proper Bandwidth मिल सके।

VPN Service आपको Bandwidth Throttling से बचाती है क्यूंकी ये आपके Internet Traffic को Encrypt कर देती है। जिसकी वजह से Internet Service Provider को पता नहीं चलता आप कितना Bandwidth use कर रहे है।

Read More:-

3) VPN Service Firewalls को Bypass करने मे Help करती है।

आपने देखा होगा Office में, School में, Airport पर, Hotels में कुछ Website Open ही नहीं होती है। क्यूंकी वहाँ पर Network Firewalls लगे होता है जो आपको उन Websites को Access नहीं करने देते है।

VPN की help से आप उन Firewalls को Bypass कर सकते हो। क्यूंकी VPN आपके IP address को Change कर देता है।

IP address change हो जाने के बाद Firewalls को पता नहीं चलता की website को access करने की Request आपके IP से आई है।

4) VPN की Help से Office का काम घर से किया जा सकता है।  

आपने देखा होगा कुछ लोग Office का काम घर बैठे बैठे ही कर लेते है। ऐसे लोग VPN की help लेते है Office के Private Network के साथ Safely और Privately connect होने के लिए।

VPN एक Secure Connection established करता है Device (Laptop/Mobile) और Company के Private Network के बीच मे।

Communication और Data Transformation Encrypted Format मे होता है जिसकी वजह से कोई भी Hacker data को चुरा नहीं सकता है और ना ही Data के साथ छेड़-छाड़ कर सकता है।

5) VPN Service Geo-Blocks को bypass करने मे help करती है।

कुछ Websites ऐसी होती है जिनको Specially कुछ Countries के लिए बनाया जाता है। अगर आप उन Websites को अपनी Country से access करने की कोशिश करोगे तो नहीं कर पाओगे।

For e.g.:- एक Website है जो सिर्फ USA के लिए बनाई गयी है। अगर आप उस Website को India या किसी और Country से Open करना चाहते है तो नहीं कर पाएंगे।

क्यूंकी उस Website पर Geo-Restriction Technology का इस्तेमाल किया गया है।

दोस्तो आप VPN की मदद से इस Technology को भी चकमा दे सकते है। आपको सिर्फ उस Country का VPN Server Select करना होगा जिसके लिए Website बनाई गयी है। उसके बाद आप Easily उस Website को Access कर पाएंगे।

VPN के नुकसान (Disadvantages of VPN)

वैसे तो VPN Service के नुकसान बहुत ही कम है फिर भी हमने कुछ Disadvantages नीचे Mansion किए है जिनके बारे मे आपको पता होना चाहिए।

1) VPN की वजह से आपकी Online speed slow हो सकती है।

Speed का Slow होना बहुत सारे Factors पर depend करता है। जैसे की, VPN Server आपसे कितना दूर है, कौनसा VPN Protocol use किया है, Encryption कितना Strong है वगैरा वगैरा।

VPN की वजह से Speed एकदम slow नहीं होती है लेकिन थोड़ा बहुत फर्क पड़ता है। अगर आपके Internet की Speed अच्छी है, CPU अच्छा है तो शायद आपको Feel भी ना हो।

2) ख़राब VPN की वजह से आपकी Privacy ख़तरे मे आ सकती है।

VPN आपके Data को Online Protect करने का काम करता है। लेकिन ख़राब VPN Service आपके Data को ख़तरे मे भी डाल सकती है।

Free VPN Services मे Complete Security नहीं मिलती है, Data Encryption उतना अच्छा नहीं होता है, जिसकी वजह से Data के Misuse होने का ख़तरा बना रहता है।

कुछ VPN आपकी Online Activity को Track करते है और उसका Record भी रखते है। ऐसी VPN Services से दूर ही रहना चाहिए।

Read More:-

3) अच्छी VPN Service के लिए आपको पैसे ख़र्च करने पड़ते है।

आपके Data को online secure रखने के लिए Free VPN reliable option नहीं है। अच्छी VPN Service खरीदने के लिए 500 से 1000 रूपए हर महीने ख़र्च करने पड़ते है।

जो लोग इतना पैसा ख़र्च नहीं कर सकते उनके लिए ये एक तरह का Disadvantage है।

4) VPN हर Device को Support नहीं करता है।

Market मे जीतने भी popular platforms available है VPN Services सिर्फ उनमे ही काम करती है। जैसे की, Windows, iOS, macOS & Android.

पर कुछ Operating System और Devices ऐसे भी है जिनमे VPN Service काम नहीं करती है। जैसे की, Linux, Chromebook,Boxee Box.

अगर आप इनमे से कोई Platform use कर रहे है तो आपको Manually VPN setup करना होगा।

दोस्तो उम्मीद है आपको समझ मे आ गया होगा What is VPN in Hindi. हमने इस post मे आपको VPN से Related सारी चिजे details मे बताने की कोशिश की है। 

VPN Kya hai और कैसे काम करता है अगर आपको समझ मे आ गया है तो हमारे इस Post को लिखने का मकषद Pura हुआ।

What is VPN in Hindi अगर आपको ये Post अच्छा लगा तो Comment Box मे लिखकर ज़रूर बताए। जो लोग Technology के बारे मे पढ़ना पसंद करते है उनके साथ ये Post ज़रूर SHARE करे। 

ख़ुश रहे और अपने आस पास सबको ख़ुश रखे।

अगरबत्ती के Business की पूरी जानकारी । Agarbatti Making Business in Hindi

0
Agarbatti making business in hindi

Agarbatti Making Business in Hindi (अगरबत्ती बनाने के Business की पूरी जानकारी) 

Agarbatti Making Business in Hindi:- अगरबत्ती बनाकर बेचने के Business की पूरी जानकारी आपको इस Post मे मिल जाएगी।

जैसे की, कितनी Machines ख़रीदनी होगी ? कौनसे कौनसे Raw Material ज़रूरत पड़ेगी? Machine और Raw Material का Cost कितना होगा ? और आप इनको कहाँ से खरीद सकते हो ? Business शुरू करने के लिए कम से कम कितने पैसे की ज़रुरत होगी ? कौनसे कौनसे Licence लेने पड़ेंगे ?

     

Agarbatti Making Business in Hindi

अगरबत्ती एक ऐसी चीज है जिसका इस्तमाल India के हर घर में, मंदिर में, Office में, Hospital में और सभी जगह पर किया जाता है, क्यूंकी ये हमारे धर्म के साथ जुडी हुई चीज है। हम भगवान की पूजा करते वक़्त इसका इस्तमाल करते है।

ये एक ऐसा Product है जो Regular basis पर use किया जाता है और Market में हमेशा इसकी demand बनी रहती है। Festival के season में इसके sales almost double हो जाते है।

आप खुद जानते होंगे India में हर महीने कोई ना कोई Festival आते ही रहता है। तो आप बेफिक्र होकर Agarbatti Making Business शुरू कर सकते है। क्यूंकि जब तक लोग भगवान की पूजा करते रहेंगे आपका business चलते रहेगा।

Agarbatti Making Business

इस Business में Export Potential भी है, मतलब आप अपना माल बनाकर India के साथ साथ, बाहर के देशो में भी export कर सकते हो। दोस्तों हमारा देश बड़े पैमाने पर अगरबत्ती Export करता है। क्यूंकि India के अलावा जहाँ जहाँ Indians रहते है वहाँ वहाँ अगरबत्ती का इस्तमाल किया जाता है।      

Agarbatti Making Business को कम Budget मे शुरू करके अच्छा खासा पैसा कमाया जा सकता है। तो चलिए सबसे पहले जान लेते है इस Business को शुरू करने के लिए कौनसे कौनसे लाइसेंस लेने पड़ेंगे और कहाँ कहाँ Registration करना होगा।

Registration and License required for Agarbatti Making Business (अगरबत्ती बनाने के व्यापार के लिए ज़रूरी License)  

India मे Agarbatti Making Business शुरू करने के लिए, आपको नीचे बताए गए Documents की ज़रूरत होगी।

1) सबसे पहले आपकी अपनी Company को ROC के साथ Register करना होगा। ROC का Full Form है Registrar of Companies.

Company register करने से आपको सबसे बड़ा फ़ायदा ये होगा की Future में अगर Business बढ़ने के लिए investment की ज़रुरत पड़ती है तो आपको आसानी से investment मिल सकता है।

2) इसके अलावा आपको Trade License लेना होगा। जिसके लिए आप Apply कर सकते हो अपने Local Municipal Authority के पास।

3) आपको DiC के पास SSI Unit registration भी करवाना होगा।

4) ऐसे Manufacturing plants के लिए आपको Pollution विभाग से भी Permission लेनी पड़ती है।

PAN No. for Company, GST & Current account

इनके अलावा दोस्तों कुछ Common सी चीजे है जो आपको भी पता होगी। जैसे की Company का PAN No. बनवाना, Current Account खुलवाना और GST No. लेना।

तो दोस्तों ये वो legal procedures है जो आपको करने पड़ेंगे Agarbatti Making Business शुरू करने के लिए।

चलिए अब बात कर लेते है Actual Business के बारे में, की आपको कितनी Machines खरीदनी होगी और कौनसा Raw Material खरीदना पड़ेगा इस Business की शुरुवात करने के लिए।

Machines Required for Agarbatti Making Business

1) Agarbatti Making Machine:-  

अगरबत्ती बनाकर बेचने के लिए आपको इस मशीन की ज़रूरत होगी। ये Machine सारा काम Automatically करती है। आपको सिर्फ Raw Material इसके अंदर डालना होता है उसके बाद अगरबत्ती automatically बनकर बाहर निकलने लगती है।

इस मशीन की एक ख़ास बात है। इसमें Speed आप अपने हिसाब से adjust कर सकते हो। Speed slow रखने पर अगरबत्ती धीरे धीरे बनकर बाहर निकलती है और Speed fast रखने पर फटाफट।

ये मशीन Single phase पर चलती है। अगर आप चाहे तो इस मशीन को घर पर भी install करवा सकते है।

Read More:-

2) Agarbatti Dryer Machine:-

इस मशीन का इस्तमाल अगरबत्ती को सुखाने के लिए किया जाता है। ये 8 घंटे में लगभग 200 किलो अगरबत्ती सुखा सकती है।

दोस्तों ये एक Optional मशीन है अगर आप चाहें तो इसको खरीद सकते है वरना सूरज की रोशनी मे भी अगरबत्ती को सुखाया जा सकता है। अगर आप इस मशीन को ख़रीद लेते है तो आपको ये बारिश के समय बहुत काम आएगी।

अगर आपके पास Budget का Issue है  और आप Machine नहीं खरीद सकते। तो आप Manually Agarbatti बनाकर भी बेच सकते है।

Manually Agarbatti Making:-

ये एक Traditional method. जिसमे आपको सिर्फ ऐसे लोगो की ज़रूरत होगी जो अगरबत्ती बनाना जानते हो। इस Method में सारा काम Manually होता है। एक कारीगर दिन में ज्यादा से ज्यादा 25 किलो अगरबत्ती बना सकता है।

दोस्तों Manually अगरबत्ती बनाने के business में आपका investment भी कम होगा और आपको profit भी। 

Agarbatti Making Business की शुरुवात Manually भी की जा सकती है और Machine खरीद कर भी। चलिए अब बात कर लेते है Raw Material के बारे में, जो आपको Regular basis पर खरीदना होगा अगरबत्ती बनाने के लिए।  

Raw Material for Agarbatti Making Business

अगरबत्ती बनाने के लिए नीचे बताए गए Raw Materials की ज़रूरत होगी।

Agarbatti making raw material

1) अगरबत्ती का मसाला:-

दोस्तों अगरबत्ती बनाने के लिए मसाले की सबसे ज्यादा ज़रुरत होती है। इसे Premix Powder भी कहते है।

ये Market में आपको बना बनाया किलो के हिसाब से मिल जाता है। आप जिस कलर की अगरबत्ती बनाना चाहते है उस कलर का Premix Powder आप ख़रीद सकते है।

2) Bamboo Sticks:-

अगरबत्ती बनाने के लिए इसकी भी बहुत ज़रुरत पड़ती है। Bamboo Sticks भी आपको Market में किलो के भाव से मिल जायेंगे।

इसमें अलग अलग Quality आती है आप जिस Quality की अगरबत्ती बनाकर बेचना चाहते है उस quality के bamboo Sticks ख़रीद सकते है। 

3) Perfume:-

दोस्तों अगरबत्ती को खुशबूदार बनाने के लिए perfume की ज़रुरत पड़ती है। ये एक Optional चीज है अगर आप चाहे तो Perfume का इस्तमाल कर सकते है, Otherwise आप बिना perfume वाली अगरबत्ती बनाकर भी बेच सकते है।

Market में ऐसी बहुत सारी Companies available है जो आपसे बिना Perfume की अगरबत्ती खरीदती है और फिर खुद Perfume लगाकर अपने brand के नाम से बेचती है।

दोस्तों Perfume भी आपको किलो के हिसाब से market में मिल जायेगा। आपको जिस Perfume की सुगंध अच्छी लगे आप वो ख़रीद सकते है।            

4) Packaging Material:-

दोस्तों Packaging Material की ज़रुरत आपको एकदम Last में पड़ेगी। जब आपकी अगरबत्ती बनकर एकदम तैयार हो जाएगी। Packaging Material पर आप अपने हिसाब से खर्चा कर सकते है।

आपका Packing जितना अच्छा होगा उतना आपका प्रोडक्ट मार्किट में बिकेगा।

तो दोस्तो आपको इन 4 Raw Materials को Regular basis पर खरीदना पड़ेगा। हमें लगता है की हमने वो सारी चीजे कवर कर ली है जिनकी ज़रुरत आपको अगरबत्ती बनाने के लिए होगी।

तो चलिए अब बात कर लेते है अगरबत्ती बनाने के Process के बारे मे। 

Agarbatti Making Process (अगरबत्ती बनाने की प्रक्रिया)

Step 1:- अगरबत्ती का मसाला बनाने के लिए। सबसे पहले एक Tub में Premix Powder और पानी को मिक्स किया जाता है।

दोस्तों Premix Powder में पानी कितनी मात्रा में डालना है ये आपको मशीन के Manufacturer से Confirm करना होगा। वैसे 1 किलो Premix Powder में 600 से 700 ml पानी डाला जाता है।

For e.g:- अगर आप 10 किलो premix powder लेते है तो आपको 6 से 7 लीटर पानी डालना होगा।

Step 2:- इसके बाद Premix Powder और पानी के मिश्रण को मशीन पर बनी बाल्टी में डाला जाता है और Bamboo Sticks को मशीन पर लगाया जाता है ताकि अगरबत्ती बन सके।

Read More:-

Step 3:- उसके बाद automatically अगरबत्ती बनकर बाहर निकलना शुरू हो जाती है।

Step 4:- फ़िर अगरबत्ती को पंखे के निचे या फिर Agarbatti Dryer Machine में सुखाते है ।

Step 5:- अगरबत्ती के सुख जाने के बाद इसको Perfume में डुबाया जाता है और फिरसे एक बार सूखने के लिए छोड़ दिया जाता है।

Step 6:- इसके बाद अगरबत्ती तैयार हो जाती है और उससे Packing करके बेचने के लिए भेज दिया जाता है।

तो दोस्तों आप ख़ुद समझ गए होंगे अगरबत्ती बनाना कितना आसान है। तो चलिए अब जान लेते है Machine कितने की आएगी और Raw Material का Cost कितना पड़ेगा। 

Raw Material and Agarbatti Making Machine Cost (कच्चा माल और मशीन पर आने वाला ख़र्च)

Agarbatti Making Machines Cost:- 

1) Agarbatti Making Machine आपको 40 हजार से 2 लाख रूपए तक मिल जाएगी। आप आपने Budget के हिसाब से खरीद सकते है। मशीन जितनी महंगी होगी उसकी Production Capacity उतनी ज्यादा होगी। 

2) Agarbatti Dryer Machine आपको 18 हजार से 20 हजार रूपए में मिल जाएगी।

दोस्तों अगर आप इस Business से ज़्यादा मुनाफ़ा कमाना चाहते है तो हम आपको Suggest करेंगे आप 2 या 3 Agarbatti Making Machine खरीदिए और एक Dryer Machine.  

2 से 3 Machine और 1 Dryer Machine खरीदने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा 1 से 1.5 लाख रुपया invest करना होगा। 

इस Business में आप अपनी Capacity के हिसाब से Invest कर सकते है। हम मानके चलते है इस business को शुरू करने के लिए आपको 40 हजार से 1.5 लाख रूपये तक का Investment Machines खरीदने के लिए करना होगा।

Raw Material Cost for Agarbatti Making:-

1) Premix Powder आपको 15 रूपए से लेकर 40 रूपए किलो तक मिल जाएगा। Powder जितना महँगा होगा उसकी Quality उतनी ही अच्छी होगी।

2) Bamboo Sticks की Price Market में 50 रूपए किलो से लेकर 100 रूपए किलो होती है। आप जैसी Quality की Agarbatti बनाना चाहते है वैसी Quality के Bamboo Sticks ख़रीद सकते है।

3) Perfume आपको Market में 400 रूपए से लेकर 2000 रूपए किलो तक मिल जायेगा। Perfume की सुगंध जितनी अच्छी होगी उसकी Price भी उतनी ही ज्यादा होगी।

4) Packing Pouch आपको 200 रूपए से लेकर 500 रूपए किलो तक मिल जायेंगे।

तो आप समझ गए होंगे Machine का Cost कितना पड़ेगा और raw material किस price में आपको खरीदना होगा।

Read More:-

Profit Calculation in Agarbatti Making Business 

दोस्तों अगर आप बिना Perfume वाली Agarabatti बनाकर बेचते है तो आपको एक किलो पर 10 से 12 रूपए का Profit होगा।

अगर आप Perfume वाली अगरबत्ती बनाकर बेचते है तो आपको 20 से 25 रुपए तक का Profit हो सकता है।

Agarbatti Making Machine एक घंटे मे 10 किलो अगरबत्ती बना सकती है। अगर आपकी मशीन दिन मे 10 घंटे भी चलती है तो आप 100 किलो अगरबत्ती बना पाएंगे।

हम मान के चलते है की आप बिना perfume वाली अगरबत्ती बनाकर बेचते है। तो

100*12 =1200

दोस्तो 1 मशीन से आप रोजाना 1000 से 1200 रूपए तक कमा सकते हो।

अगर आपकी मशीन महीने में 25 दिन भी चलती है तो आप 1 मशीन से महीने का 25 30 हजार रूपए कमा सकते हो।

दोस्तो अगर आप ज़्यादा Profit कमाना चाहते है तो 2 से 3 मशीन के साथ इस Business की शुरुवात कीजिए।

मान लेते है आपके पास 3 मशीन है तो आप महीने का Maximum 75 से 80 हजार रूपए कमा सकते है। वो भी बिना perfume वाली अगरबत्ती से। अगर आप Perfume वाली अगरबत्ती बेचते है तो आपका Profit Automatically Double हो जाता है।

Note:- Business की शुरुवात करते ही आपको इतना Profit नहीं होगा। Profit आपकी Company के Sales पर Depend करेगा। आपकी Company को जीतने Orders मिलेंगे उसी के हिसाब से आपको Profit होगा।  

चलिए दोस्तों अब जान लेते है की आप इन अगरबत्ती को बेचेंगे कैसे ??? क्यूंकि जब तक बिकेगा नहीं  Profit दिखेगा नहीं।

Marketing  for Agarbatti Making Business (अगरबत्ती बेचने के तरीके)

दोस्तो हम आपको 2 तरीके बताने वाले है…

सबसे पहला तरीका:-

आपको अपना माल बेचने के लिए Target करना होगा उन location को जहाँ ज्यादा अगरबत्ती बिकती है। सबसे बेस्ट Place है मंदिर, आप उन सभी बड़े बड़े मंदिरों को Target कर सकते है जिनके बाहर बहुत सारी पूजापाठ के सामान की दूकान होती है।

Marketing for Agarbatti Making Business

दोस्तों आप खुद जानते होंगे हम जब भी किसी बड़े मंदिर में जाते है तो हम भगवान की पूजा करने के लिए मंदिर के बाहर जो दुकान होती है उससे थाली ज़रूर खरीदते है। आपने देखा होगा उस थाली में अगरबत्ती भी होती है। अब आप खुद Calculate कीजिये रोजाना मंदिर में कितने लोग आते है और कितनी थालियाँ बिकती है।

अगर आप उन सभी दुकानों को अपना माल बेच सके तो आपका Business चल पड़ेगा। इसके लिए आपको 1 या 2 लोगो को Hire करना होगा ताकि वो Market में जाकर दुकानदारो से बात कर सके और orders ला सके।          

दूसरा तरीका:- 

आप अपनी Company को IndiaMart के साथ Register कर लीजिए। ऐसा करने से आपको बिना Perfume वाली अगरबत्ती के Orders Bulk में मिल सकते है। क्यूंकि IndiaMart पर ऐसी बहुत सारी Companies visit करती है जिनको बिना Perfume वाली अगरबत्ती की Requirement होती है।

इसके अलावा आप Amazon और Filpkart के साथ Register करके भी आपका माल बेच सकते है। Amazon और Filpkart से Sellers को बहुत अच्छा support मिलता है। आपको वहाँ से भी थोड़े थोड़े Orders आना चालू हो जायेंगे।

तो दोस्तों अगरबत्ती बेचने के लिए आप इन 2 तरीक़ो का इस्तेमाल कर सकते है आपको Orders मिलने शुरू हो जायेंगे।

How Much Space Required? (कितनी जगह चाहिए ?)

दोस्तों अगरबत्ती बनाने के Business की शुरुवात करने के लिए कम से कम आपको 200 से 250 Square Fit के area की requirement होगी। ताकि आप मशीन रख सको, Raw Material रख सको और काम कर सको।

Where to Buy Agarbatti Making Machine and Raw Material ?(कहाँ से ख़रीदे ?)

1) https://www.indiamart.com/

2) https://india.alibaba.com/index.html

हमें उम्मीद है दोस्तों आपको Agarbatti Making Business के बारे मे सारी जानकारी मिल गयी होगी।

अगर आपको ये Post अच्छा लगा तो Comment Box मे लिखकर ज़रूर बताए। आपके मन मे कोई भी सवाल है या Doubt है तो Comment Box में लिखिए हम उसका जवाब ज़रूर देंगे।

इस Post को उन सभी लोगो के साथ SHARE कीजिये जो खुदका Business शुरू करना चाहते है।

Agarbatti Making Business in Hindi ये Post पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

ख़ुश रहे और अपने आस पास सबको ख़ुश रखे।

 

Artificial Intelligence क्या है ? What is Artificial Intelligence in Hindi

0
Artificial Intelligence in Hindi

Artificial Intelligence क्या है ? (What is Artificial Intelligence in Hindi) 

What is Artificial Intelligence in Hindi:- Artificial Intelligence क्या है? ये सवाल आजकल हर किसी की ज़ुबान पर चढ़ा हुआ है। क्योंकि पिछले कुछ सालो से Artificial Intelligence का Involvement हमारी ज़िंदगी मे बढ़ता जा रहा है और जब भी किसी चीज़ का Involvement बढ़ता है तो लोगो मे उस चीज़ के बारे में जानने की इच्छा भी बढ़ जाती है।

तो दोस्तों इस Post में हम आपको Artificial Intelligence in Hindi  के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

जैसे कि,

  • What is Artificial Intelligence in Hindi
  • Types of Artificial Intelligence
  • Applications of Artificial Intelligence 
  • Examples of Artificial Intelligence in our day to day life 
  • Advantages of Artificial Intelligence
  • Disadvantages of Artificial Intelligence 
  • Future of Artificial Intelligence

What is Artificial Intelligence in Hindi (Artificial Intelligence क्या है?)

दोस्तो Artificial Intelligence को AI भी कहते है। ये Computer Science की एक Branch है जिसका मकषद सिर्फ़ और सिर्फ़ Intelligent Machines बनाना है जो इंसानो के जैसे सोच सके और काम कर सके।

हम इंसान जिस तरह आवाज़ को पहचान सकते है, Problems को Solve कर सकते है, हर चीज़ से कुछ नया सीख सकते है, हमारे कामो की Planning कर सकते है उसी प्रकार Artificial Intelligence की मदत से बनी Machines भी ये सारे काम कर सकती है।

इन Machines के अंदर वो सारी Information’s डाली जाती है जिनकी ज़रूरत इनको होती है काम करने के लिए। उसके बाद जब भी इनके सामने कोई Query आती है या Problem आती है तो ये अपने अंदर मौजूद Information को Process करके Accurate Solution निकालते है और Action लेते है।

Artificial intelligence

ये Machines ठीक उसी तरह काम करती है जैसे किसी इंसान का दिमाग काम करता है। क्यूंकी जब भी हमारे सामने कोई Problem आती है, तो हमारा दिमाग सबसे पहले उस Problem से Related Information को ढूँढता है फिर Process करके Decide करता है की क्या करना सही होगा और Finally Solution निकालकर देता है। उसके बाद हम Action लेते है और Problem को Solve कर देते है। 

आज के दौर मे बड़े बड़े Business Players जैसे Google, Amazon, Facebook, Apple ये सारे करोड़ो रूपए  Artificial Intelligence मे Invest कर रहे है क्यूंकी Experts का मानना है की Artificial intelligence ही हमारा Future है।

लेकिन दोस्तो अगर आप अपने आस पास देखोगे तो पता चलेगा की ये Future नहीं ये हमारा Present है क्यूंकी बहुत सारी AI हमारे आस पास Already मौजूद है।

जैसे की, Apple का Siri, Amazon का Alexa, Google का RankBrain और भी बहुत सारे है।

Artificial Intelligence अपने शुरुवाती दौर मे है लेकिन जैसे जैसे Companies इसमे ज़्यादा पैसे Invest कर रही है। आने वाले Future मे AI Products और AI App’s मे ज़बरदस्त Growth होने वाली है।

Types of Artificial Intelligence (AI के प्रकार)

AI को उनके Intelligence के हिसाब से 3 Categories मे बाँटा गया है। ANI, AGI और ASI जिनको Narrow, General और Super Artificial Intelligence भी कहते है।

Type 1:- Artificial Narrow Intelligence (ANI)

दोस्तो Narrow AI को Weak AI भी कहते है। ये AI’s सिर्फ़ वही काम कर सकती जो काम करने के लिए इनको Design किया गया है।

For e.g:- Google का एक AI System है जिसका नाम है RankBrain. इसका काम है, Website और उनके अंदर मौजूद Pages को Rank करना। जिन Websites पर Proper Information होती है, उनको ये System Top पर Rank करता है और जिन Websites पर Proper Information नहीं होती है उनकी Ranking कम कर देता है।

दोस्तो Google का ये AI System सिर्फ़ Websites और Pages को Rank करने के लिए बनाया हुआ है। इसके अलावा ये और कुछ नहीं कर सकता है।

हमारे आस पास जीतने भी AI Systems मौजूद है वो सारे के सारे इसी Narrow AI Category मे आते है।

Read More:-

Type 2:- Artificial General Intelligence (AGI)

दोस्तो General AI को Strong AI और Deep AI भी कहते है। जब कोई AI System इंसानों के जितना Intelligent होता है और वैसे ही Behave करता हो जैसे हम इंसान करते है, तो उसको Artificial General Intelligence कहते है।

ऐसे AI System सबसे पहले Situation को समझते है और फिर उसके हिसाब से Decision लेते है। समय के साथ साथ ये अपने Experience से सीखते भी है।

इसके अलावा दोस्तो ऐसे AI System उन Situations को भी Handle कर सकते है जिनके बारे मे इनके पास कोई भी Information Available नहीं होती है। Situation को Handle करने के लिए ये अपने Logic और Creativity का use करते है। ठीक वैसे ही जैसे हम इंशान करते है। 

दोस्तो अभी तक इस तरह के Artificial Intelligence System Available नहीं है। लेकिन वैज्ञानिक ऐसे AI’s को Develop करने की कोशिश कर रहे है और माना जाता है कि आने वाले कुछ दशकों में हम ऐसे Artificial Intelligence System देख पाएंगे।

Type 3:- Artificial Super Intelligence (ASI)

दोस्तो जब कोई AI System इंसानो से भी ज़्यादा Intelligent होता है और हर चीज़ मे इंसानो से Better Perform करता है तो उसको Artificial Super Intelligence कहते है।

Artificial Intelligence kya hai

ऐसे AI System खुद सोच पाएंगे, इनको Operate करने के लिए इंसानो की ज़रूरत नहीं होगी। एक AI बहुत सारे AI’s को Operate कर पाएगा। आज जो काम इंसान करते है वो सारे काम ये AI System करने लगेंगे।   

दोस्तो अभी तक Super AI Systems की कल्पना ही की जा सकती है क्यूंकी इनको बनने मे कम से कम 150-200 साल तो आराम से लग जाएंगे।

Applications of Artificial Intelligence:-

Artificial Intelligence (AI) ने बहुत सारे छेत्रों मे अपना योग दान दिया है जिनमे से कुछ के बारे मे नीचे बताया गया है।

Gaming:-

AI Strategic Games मे बहुत ही Important role play करती है। Strategic Games मतलब Chess, Tic Tac Toe (O & X Game) और भी बहुत सारे है। इन Games मे मशीन कोई भी Step लेने से पहले बहुत सारे Possible Ways के बारे मे सोचती है उसके बाद मे Action लेती है।

Natural Language Processing:-

दोस्तो Natural Language मतलब, हम इंसान जिस Language मे बात करते है। जैसे की, English, Hindi, French, Chinese वगैरा वगैरा। Artificial Intelligence की मदत से Computer हमारी Language को समझ सकता है।

Applications of Artificial Intelligence

Handwriting Recognition:-

कुछ AI Systems कागज़ और Screen पर लिखे हुए Text को Read कर सकते है और editable format मे Convert कर सकते है।

ये Systems हर एक Letter के Shape को पहचानते है। जब इनके सामने कोई लिखा हुआ Text आता है तो ये सबसे पहले Letters को समझते है उसके बाद Conversion का काम करते है।

Speech Recognition:-

कुछ AI Systems ऐसे होते है जो हमारी Language को समझ सकते है और हमसे बात कर सकते है।

For e.g:- जब हम किसी Bank के Customer Care मे phone करते है तो IVR हमे बताने के लिए कहता है की हमारी Query किस से related है Banking, Credit Card या Loan. हम Banking कहते है तो System Speech को Recognise करता है और हमारा Call banking department मे connect कर देता है

Experts Systems:-

दोस्तो AI की कुछ ऐसी Applications है जो Users को Decision Making मे Help करती है। जब भी User इनसे कोई Query पूछता है तो ये अपने पास Available Data (information) को Process करके solution निकालते है और user को accurate answer देते है। Expert Systems एक तरह से Expert का काम करते है।

Examples of Artificial Intelligence in our day to day Life (AI के उदाहरण)

दोस्तो हमने जाने अनजाने मे AI Systems का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। अगर आप ये Information अपने Mobile या Computer की Screen पर देख रहे हो मतलब आपने Artificial Intelligence का इस्तेमाल किया है।

अक्सर हम हमारे Office मे, दोस्तो से Online बात करते वक़्त, Internet पर कुछ Search करते वक़्त, Online Shopping करते वक़्त AI’s का इस्तेमाल करते है।

नीचे कुछ Examples दिये हुए है जिनको पढ़कर आप ख़ुद समझ जाएंगे।

1) Facebook:-

दोस्तो जब आप कोई Photo Facebook पर upload करते हो तो Facebook Automatically Photo के अंदर जो लोग होते है उनके चहरों को Highlight करता है और उनका नाम Suggest करता है ताकि आप उनको Tag कर सको।

अब आप ये सोचिए Facebook को कैसे पता चलता है की कौनसा दोस्तो Photo मे है और उसका नाम क्या है ? दोस्तो ये सिर्फ़ और सिर्फ़ Possible हो पाता है Artificial Intelligence की वजह से। Facebook AI का इस्तेमाल करता है चहरों को Recognize करने के लिए।

Read More:- 

2) Snapchat:-

दोस्तो अगर आप Snapchat Use करते है तो आपको पता होगा, Snapchat मे आपको Digital mask लगाने का Option मिलता है। जब आपका Face Move होता है तो वो Mask भी साथ साथ मे Move होता है। ये भी Artificial Intelligence की वजह से ही Possible हो पता है।

वैसे Face पर Mask लगाने वाला Option तो आजकल बहुत सारी Application मे मिलता है तो आपने कहीं न कहीं ज़रूर देखा होगा।

3) Amazon Search:-

जब आप amazon की Website पर जाते है और कोई Product Search करते है तो आपको amazon की तरफ कुछ और Similar Products Suggest किए जाते है। इसके साथ साथ ये भी बताया जाता है Customers ने इस Product के साथ ये Product भी खरीदा है।

आपके home page पर नीचे की तरफ बहुत सारे Similar Products के Recommendation होते है। आपको Amazon की तरफ से mail आते है और उन mails मे भी वैसे ही products होते है।

दोस्तो ये सारे recommendation create होते है Artificial Intelligence की मदत से। हर Customer के लिए उसके Product Search के हिसाब से Recommendation create होते है और उसको Target किया जाता है ताकि वो Product Buy करले।

4) Voice To Text:-

आज कल हर Smart Phone मे Voice To Text का Option होता है। एक Button दबाओ और जो कुछ भी आप बोलते हो वो सारा Text मे Convert हो जाता है। दोस्तो ये भी AI की वजह से ही Possible है।

Examples of AI

5) Smart Personal Assistants:-

दोस्तो आपने Apple के Siri और Google के Google Now के बारे मे तो सुना ही होगा। ये दोनों AI की ऐसी Application है जो आपके लिए Personal Assistants का काम करती है।

अगर आप Internet पर कुछ Search करना चाहते है, किसी को Message भेजना चाहते है, कोई application खोलना चाहते है, कोई Reminder Set करना चाहते है तो आपको सिर्फ़ इनको बोलना होगा ये आपका काम तुरंत कर देंगे।

दोस्तो Amazon की भी कुछ AI App है जो Personal Assistants का काम करती है। जैसे की Alexa & Echo.    

6) Google Maps :-

दोस्तो Google Maps AI Technique को use करता है। आपको Best और Shortest Route बताने मे, Estimated Time Predict करने मे और Traffic का हाल बताने मे।

7) Spam Filters:-

आपके Inbox को Spammer से बचाने का काम भी AI Technique की वजह से ही हो पाता है। Spam Filter की मदत से फालतू के mails आपके Inbox मे नहीं जाते है और आपका inbox साफ सुथरा दिखता है। Artificial Intelligence की मदत से Gmail 99.9% Spams को Successfully Detect कर लेता है। 

8) E-Mail Categorization:-

दोस्तो आपने देखा होगा आपके Mail Box मे अलग अलग folders बने होते है। जैसे की, Primary, Social, Promotion और भी कुछ Folders होते है। Gmail AI की मदत से आने वाले mails को सही Folder मे डाल देता है।

इसके अलावा दोस्तो आपने देखा होगा आज कल Mails के नीचे आपको 3 Suggestions भी आते है ताकि आप उनपर Click करके तुरंत Reply कर सको। इसको Smart Reply कहते है ये भी AI की वजह से ही possible होता है।

9) Credit Decisions:-

आप जब Online Credit Card या Loan के लिए Apply करते है तो आपको तुरंत पता चल जाता है की आपका Application Accept हुआ या Reject, अगर Accept हुआ तो कितना loan मिलेगा rate of interest क्या होगा सारी Details आपको मिल जाती है। ये सिर्फ़ और सिर्फ़ Possible हो पाता है AI System की वजह से।

Read More:- 

दोस्तो इन Examples के अलावा और भी बहुत सारे AI App और Products Market मे Available है। जैसे की Chess का Game जिसमे Computer आपके साथ Chess खेलता है वो भी Artificial Intelligence की वजह से ही होता है।

कुछ ही सालो मे हमे बिना Driver की Cars भी देखने मिलेगी वो भी Artificial Intelligence की वजह से होगा।

दोस्तो Artificial Intelligence की Popularity और Demand Market मे बढ़ती ही जा रही है। जिसकी वजह से आने वाले सालो मे हमे और भी बहुत सारी चिजे देखने को मिलेगी।   

Advantages of Artificial Intelligence:-             

1) AI System Risky कामो को भी आसानी से कर सकते है।

जैसे की, समुन्द्र की गहराई मे खनिज, पेट्रोल और ईंधन की खोज करना। गहरी खानों की खुदाई करना।

जो काम इंसानो के लिए मुश्किल और Risky होते है वो सारे काम AI System आसानी से और कम गलतियों के साथ कर सकते है।

2) AI Systems को छुट्टी की ज़रूरत नहीं होती है। इनको इस तरह Programmed किया जाता है की ये बिना रुके लंबे समय तक काम कर सकते है।

Read More:-

3) AI Systems की मदत से काम मे efficiency बढ़ जाती है। इंसान जो गलतियाँ करते है वो सारी गलतियाँ ये System नहीं करते है।

4) AI System Boring और Monotonous काम को बिना बोर हुए कर सकते है।

5) Resources का पूरा इस्तेमाल करते है और 100% Output देते है।

Disadvantages of Artificial intelligence

1) AI Systems बहुत महँगे होते है और इनकी Repairing और Maintenance मे भी बहुत ख़र्चा आता है।

2) AI Systems के कारण बेरोजगारी बढ़ सकती है। क्यूंकी जो काम इंसान करते है वो AI System करने लगे तो इंसानों की नौकरी खतरे मे आ सकती है।   

3) ये अपने Experience के साथ नहीं सीखते है। इनके पास जो Information होती है उसकी के हिसाब से काम करते है।

4) इनके अंदर Feelings नहीं होती है। जिसके कारण ये सही और गलत मे फर्क नहीं कर सकते है।

Future of Artificial Intelligence (AI का भविष्य)

1) पूरा Transportation System Automated हो जाएगा और हर जगह हम Automatic चलने वाली गाड़िया देख पाएँगे।

2) Future में Smart Cities की संख्या बढ़ जाएगी जिनमें Maximum चीजें Artificial Intelligence के द्वारा Operate की जाएगी। जैसे की, गाड़िया, Phone, Home Appliances वगैरा वगैरा।

3) Home Robots घर के सभी छोटे बड़े काम करेंगे जैसे घर के नौकर करते है। इसके अलावा घर के बुजुर्गों और छोटे बच्चों की देखभाल भी करेंगे।

4) Robots वो सारे काम करेंगे जो ख़तरनाक होते है। जैसे कि, Bomb को Defuse करना, Welding करना वगैरा वगैरा।

5) जो काम आज इंसान करते है उन सभी कामों को Robots से Replace कर दिया जाएगा। इसके कारण बहुत सारे लोगों की Job चली जाएगी।

6) Tedious और Time Consuming काम AI करने लगेंगे। जिसकी वजह से इंसान अपना ज़्यादा समय Critical Thinking और Creative कामों को दे पाएगा।

जैसे कि, Products को design करना, नए Brand को Promote करने की Strategy develop करना वगैरा वगैरा।

उम्मीद है दोस्तों आप समझ गए होंगे Artificial Intelligence क्या है? और कैसे इसकी वजह से हमारी ज़िंदगी को फायदा हो रहा है।

AI की बहुत सारी Applications हमारे आस पास मौजूद है और Future मे हमे और भी AI के Examples देखने को मिलेंगे।

Artificial Intelligence हमारा Present भी है और Future भी।  अब देखने वाली बात ये होगी की आने वाले समय मे AI हमारे लिए क्या लाता है।

अगर आपको Artificial Intelligence in Hindi ये Post अच्छा लगा तो Comment Box मे लिखकर ज़रूर बताए।

जो लोग Technology के बारे मे जानना और पढ़ना पसंद करते है उनके साथ ये Post ज़रूर SHARE करें।

Artificial Intelligence in Hindi ये Post पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

ख़ुश रहे और अपने आस पास सबको ख़ुश रखे। 

NEFT Meaning in Hindi । NEFT Full Form, Timings & Charges

0

NEFT Meaning in Hindi

NEFT Meaning in Hindi – NEFT का Full Form है National Electronic Fund Transfer. इसे हिन्दी मे राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स निधि अंतरण भी कहते है।

ये एक बहुत ही Popular method है Fund Transfer करने के लिए, Bills का Payment करने के लिए, Loan की EMI भरने के लिए और Credit Card का Payment करने के लिए।

NEFT के बारे मे सारी जानकारी हमने इस Post मे देने की कोशिश की है।

जैसे की, NEFT Meaning in Hindi, NEFT का Full Form क्या है ? NEFT Cut Off Timings, NEFT Fees & Charges, Meaning of NEFT in Hindi वगैरा वगैरा।

NEFT क्या है? (What is NEFT?)

NEFT एक Payment System है जिसकी मदद से पैसा Electronically  एक bank account से दूसरे bank account मे भेजा जा सकता है। NEFT की शुरुवात 2005 में Reserve Bank of India ने की थी, ताकि Online Transactions को बढ़ावा दिया जा सके।

अगर कोई इंसान India के अंदर पैसे अपने bank account से किसी Individual, Firm या Corporate के bank account मे भेजना चाहता है तो NEFT के through भेज सकता है।   

NEFT से पैसा भेजने के लिए या फिर Receive करने के लिए आपकी Bank branch NEFT enabled होनी चाहिए। मतलब RBI के NEFT Network के साथ जुड़ी हुई होनी चाहिए।

कोई Bank branch NEFT Enabled है या नहीं ये जानने के लिए आप RBI की Website पर NEFT Enabled Bank Branches की list देख सकते है या फिर directly उस bank के customer care मे phone करके पूछ सकते है।  

NEFT के through पैसे India से Nepal मे भेजे जा सकते है। Reserve Bank of India की एक Scheme है जिसका नाम है Indo-Nepal Remittance Facility Scheme. ये Scheme पैसे India से Nepal मे भेजने की अनुमति देती है।

NEFT से पैसे कैसे Transfer करें (How to transfer Funds through NEFT)

NEFT से Fund एक Bank Account से दूसरे Bank Account मे भेजने के 2 तरीके होते है।

Online Method, जिसमे आप Net Banking या फिर Mobile Banking की मदद से ख़ुद पैसे transfer कर सकते है।

Offline Method, इसमे आपको Bank branch मे visit करके Fund Transfer की Request देनी पड़ती है।    

चलिए दोनों methods के process को details मे जान लेते है।

1) NEFT के लिए Online Procedure

NEFT के through online पैसे भेजने के लिए नीचे दिये गए Steps follow कीजिए।

Step 1:- आपका Account जिस Bank में है उस Bank के Net Banking मे login करना होगा। Login करने के लिए आपके पास Login ID और Password होना चाहिए।

अगर आपके पास Login ID और Password नहीं है तो आप Bank के Customer care मे phone करके Help ले सकते हो।

Neft Meaning in Hindi

Step 2:- Net banking मे login करने के बाद आपको Fund Transfer Section मे जाना होगा और Add Beneficiary पर click करना होगा।

यहाँ पर Beneficiary का मतलब होता है वो इंसान जिसको आप पैसे भेजना चाहते हो। आपको Beneficiary के सारे details add करने होंगे।

जैसे की, Beneficiary Name, Account No., IFSC Code और Account Type.

Step 3:- Beneficiary successfully add करने के बाद हो सकता है Beneficiary activate होने मे कुछ समय लग जाए।

हर Bank का अपना अपना Time होता है। कोई Bank 1 घंटे मे Activate करती है तो कोई Bank 4 घंटे लगाती है, किसी किसी Bank मे Beneficiary add करने के बाद आप तुरंत Activate कर सकते हो।

Step 4:- Beneficiary के activate हो जाने के बाद आपको Fund Transfer मे NEFT Option Select करना होता है।

Step 5:- उसके बाद आपको कुछ Options दिखेंगे।

जैसे की, Beneficiary name, Account No. और Amount.

Beneficiary name मे आपको उस Beneficiary का नाम select करना होगा जिसको आप पैसे भेजना चाहते हो। Account No. मे आपको वो account select करना होगा जहाँ से पैसे कटेंगे और Amount मे आपको वो amount enter करना होगा जो आप भेजना चाहते हो।

Step 6:- सारे details enter करने के बाद आपको Submit पर click करना होगा। जैसे ही आप Submit पर click करेंगे आपका transaction भेज दिया जाएगा execute करने के लिए।

दोस्तो हर bank का procedure थोड़ा बहुत अलग हो सकता है। लेकिन हमने आपको जो 6 steps बताए है वो common है जो हर bank के customer को follow करने पड़ते है।     

Read More:-

2) NEFT के लिए Offline Procedure   

Offline पैसा NEFT के through एक Bank Account से दूसरे Bank Account में Transfer करने के लिए नीचे दिए गए Steps follow कीजिए।

Step 1:- सबसे पहले आपको Bank Branch में Visit करना होगा।

Step 2:- Branch में आपको Manually NEFT का Form भरना होगा। उस Form के अंदर Beneficiary के सारे details enter करने होंगे।

जैसे कि, 

  • Beneficiary का नाम (जिसको पैसे भेजने है।)
  • उसका Account No.
  • उसके Bank का नाम।
  • कौनसी Branch में उसका Account है।
  • उसकी Branch का IFSC Code.
  • उसका Account Type (Saving A/C है या Current account)
  • आपका Account No. (जिसमें से पैसे कटेंगे)
  • Amount (जितने पैसे Transfer करने है।)

Step 3:- सारे Details भरने के बाद आपको NEFT form branch में Submit करना होगा।

Step 4:- उसके बाद Branch आपके Behalf पर NEFT Transaction Initiate करेगी और पैसा Beneficiary को मिल जाएगा।

NEFT System काम कैसे करता है ? (How does the NEFT System Work?)

NEFT System transactions को कैसे Settle करता है, इसको step by step समझने की कोशिश करते है।

NEFT Full Form

Step 1:- जब कोई अपने Bank Account से किसी दुसरे के Bank Account में NEFT के through पैसा भेजना चाहता है तो उसे एक form भरना पड़ता है।

इस form में Beneficiary से जुड़ी सारी details enter करनी पड़ती है (जैसे की, Beneficiary का नाम, उसकी Bank का नाम, Branch, Account Number, IFSC Code, Account Type) और वो Amount enter करना होता है जो Beneficiary को Transfer करना है।

ये form Branch में visit करके भरा जा सकता है या फ़िर online net banking की मदद से भी fill किया जा सकता है।

Step 2:- Benefeciary के सारे details और amount submit करने के बाद। Sender की Bank Branch एक Message prepare करती है।

इस Message में Fund Transfer से जुड़ी सारी information होती है। जैसे की, कितने पैसे भेजने है और किसको भेजने है।

ये Message Bank Branch अपने Pooling Centre को भेज देती है। Pooling Centre को NEFT Service Centre भी कहते है।

Step 3:- उसके बाद Pooling Centre उस Message को NEFT Clearing Centre को भेज देता है। ताकि Clearing Centre उस Message अगले Batch में add कर सके execute करने के लिए।

NEFT Clearing Centre Reserve Bank of India, Mumbai के National Clearing Cell के द्वारा Operate किया जाता है।

Step 4:- NEFT Clearing Centre को जितने भी Fund Transfer के messages मिलते है उनको वो bank-wise arrange करता है और हर एक Message की Debit और Credit Entry अपने accounting system में दर्ज करता है।

Sender की bank के लिए debit entry दर्ज होती है और beneficiary की bank के लिए Credit entry.

Step 5:- उसके बाद Clearing Centre messages को bank-wise उनके Pooling Centre में भेज देता है।

Step 6:- Pooling Centre में Message receive होने के बाद beneficiary की bank branch message को check करती है और Message में जितना amount credit करने के लिए बताया गया होता है उतना amount Beneficiary के account में credit कर दिया जाता है।

NEFT करने के Timings क्या है? (What are the NEFT Timings?)

अगर आप किसी को पैसे NEFT के through transfer करने की सोच रहे हो तो आपको NEFT Timings के बारे में पता होना बहुत ज़रूरी है।

Reserve Bank of India ने NEFT के Trasactions को Settle करने के लिए सोमवार से शनिवार, सुबह 8 बजे से लेकर शाम 7 बजे (8 am to 7 pm) तक का time decide किया है।

NEFT Timings

Transactions का Settlement रविवार को नहीं किया जाता है। 2nd & 4th शनिवार को भी नहीं होता है। इसके अलावा RBI के द्वारा declare किए गए Public holidays के दिन भी कोई Settlement नहीं होता है। 

NEFT के लिए Decide किए गए Public Holidays की List निचे दी गयी है।

  • 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस)
  • 01 अप्रैल (Bank का Annual Closing)
  • 19 अप्रैल (Good Friday)
  • 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस)
  • 02 अक्टूबर (गाँधी जयंती)
  • 25 दिसम्बर (Christmas)   

NEFT के द्वारा किए गए Transactions Batch-wise Settle किए जाते है। हर आधे घंटे मे 1 batch Settlement के लिए जाता है। उस आधे घंटे मे जीतने भी NEFT Transactions होते है उनका सबका एक batch बनता है और उसको Settlement के लिए भेजा जाता है।    

For e.g.:- अगर आप 11.05 am पर कोई Transaction करते है और 11.00 am का batch already जा चुका है तो आपका Transaction 11.30 am वाले batch मे Settle होगा।   

NEFT के Transactions का Settlement सुबह 8 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक total 23 batches में होता है।        

जो भी transaction 8 am से 7 pm के बिच में Initiate होते है वो same day में settle हो जाते है। बाकी के बचे हुए transaction next working day में settle किए जाते है।

अगर कोई Transaction Sunday, 2nd & 4th Saturday या फ़िर Public Holiday के दिन Initiate होता है तो उसका Settlement Next Working day में किया जाता है।  

NEFT के Charges क्या है?  (What are the NEFT Charges?)

1) NEFT के through पैसे receive करने पर कोई भी charges नहीं pay करने पड़ते है।

For e.g:- अगर आपका दोस्त NEFT के through आपको पैसे भेजता है। तो आपके दोस्त ने जीतने भी पैसे भेजे होंगे वो सारे के सारे आपके account मे credit कर दिए जाएंगे। आपको एक रुपया भी Charge नहीं Pay करना पड़ेगा।

2) NEFT के through पैसे transfer करने पर Customers को कुछ Charges pay करने पड़ते है। ये Charges Reserve Bank of India के द्वारा decide किए गए है।

  • 10000 रूपए तक के Transaction के लिए 2.50 रूपए (+ Applicable GST)
  • 10000 से 1 लाख रूपए तक के Transaction के लिए 5 रूपए (+ Applicable GST)
  • 1 लाख से 2 लाख रूपए तक के Transaction के लिए 15 रूपए (+ Applicable GST)
  • 2 लाख से ज़्यादा रूपए के Transaction के लिए 25 रूपए (+ Applicable GST)

कुछ Banks Online mode से किए गए NEFT Transactions के लिए Customers से Charge नहीं करती है। Online मतलब Net banking और Mobile banking के through किए गए transactions. 

Branch मे visit करके Offline mode से किए गए NEFT Transactions के लिए Customer को Charges Pay करने पड़ते है।

3) India से Nepal में पैसे (Indo-Nepal Remittance Facility Scheme) NEFT के through भेजने पर भी Customers को Charges pay करने पड़ते है। Charges के detail आपको RBI की Website पर मिल जाएंगे। Link हमने नीचे दे दिया है।  

http://rbi.org.in/scripts/FAQView.aspx?Id=67

NEFT के फायदे (Benefits of NEFT) 

1) पैसा एक bank account से दूसरे bank account मे आसानी से भेजा जा सकता है। वो भी एकदम Safe और Secure तरीके से।

2) NEFT Transaction करने के लिए Customer को Branch मे Visit करने की ज़रूरत नहीं होती है। सिर्फ Net Banking या Mobile Banking की मदद से पैसा transfer किया जा सकता है।

3) पैसा Physically damage नहीं होता है। इसके अलावा पैसे के चोरी हो जाने और खो जाने का ख़तरा भी टल जाता है।  

4) किसी को Payment करने के लिए Demand Draft या फिर Cheque देने की ज़रूरत नहीं होती है।    

5) दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर NEFT Transaction किया जा सकता है।

Read More:-

6) NEFT के through पैसा transfer करने की Fees बहुत ही कम है।

7) NEFT से पैसा receive करने के लिए कोई भी Charges Pay नहीं करना पड़ता है। 

8) Beneficiary के Details सिर्फ़ एक बार Add करने पड़ते है। उसके बाद Next Time से direct beneficiary का नाम list मे से select करके पैसा भेजा जा सकता है।

9)Transaction Successful हो गया उसका Confirmation आसानी से SMS और Email के through receive किया जा सकता है।

10) Bank Account न होने के बाद भी पैसा NEFT के through किसी भी इंसान या Company के Bank Account मे भेजा जा सकता है।

NEFT से Fund Transfer कौन कर सकता है? ( Who can transfer funds using NEFT?)

कोई भी इंसान या Company जिसका Bank Account NEFT enabled Bank branch मे है वो NEFT के through fund transfer कर सकता है।

जिसके पास Bank Account नहीं है वो भी NEFT के through fund transfer कर सकता है। लेकिन उसे NEFT Enabled bank branch मे visit करके cash deposit करना होता है और Manually request देनी पड़ती है।

बिना Account के NEFT करने वाले सिर्फ़ 50000 रूपए तक fund transfer करवा सकते है। ऐसे Customers को अपनी सारी details देनी पड़ती है।

जैसे की, नाम, पत्ता, Email id, Mobile Number वगैरा वगैरा।

Bank सारी information इसलिए लेता है, क्यूंकी अगर Transaction किसी कारण से Unsuccessful हो जाए या फिर Cancel हो जाए तो Customer को उसका पैसा वापस लौटाया जा सके। 

Read More:-

NEFT से Funds कौन Receive कर सकता है? (Who can receive funds using NEFT?) 

कोई भी इंसान या Company जिसका Bank Account NEFT enabled Bank branch मे है वो NEFT के through पैसे(Funds) receive कर सकता है। 

NEFT के through पैसे India से Nepal मे भी भेजे जा सकते है। इस Case मे जो पैसा भेज रहा है उसका Account NEFT enabled Bank branch मे होना चाहिए।

लेकिन जो पैसा Receive कर रहा है उसका Bank Account Nepal मे हो या ना हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। उसको पैसे Nepalese Rupees मे मिल जाएंगे। 

NEFT से पैसे Transfer करने की Limit क्या है? (What is NEFT Fund Transfer Limit?) 

NEFT के through fund transfer करने की कोई Minimum और Maximum limit नहीं है। Customer 2 रूपए भी Transfer कर सकता है और 2 लाख भी।

लेकिन जो लोग Branch मे Cash Deposit करके NEFT से Fund Transfer करते है उनके लिए Limit है, Maximum 50000 रूपए Per Transaction.   

इसके साथ साथ India से Nepal मे Fund Transfer करने पर भी limit है, Maximum 50000 रूपए Per Transaction.  

Beneficiary के Account मे पैसे Credit ना होने पर किससे Contact करे ?

NEFT के through fund transfer करने के बाद अगर Beneficiary के account मे पैसे Credit नहीं होते है तो NEFT Customer Facilitation Centre (CFC) को Contact करना चाहिए।

हर Bank का अपना CFC होता है। Fund Transfer करने वाले को अपने Bank के CFC से contact करना चाहिए और Beneficiary को अपने Bank के CFC से।

Bank के CFC details जानने के लिए आप अपने Bank के Customer care को Contact कर सकते हो या फिर Reserve Bank of India की Website पर Visit कर सकते हो।

http://www.rbi.org.in/Scripts/bs_viewcontent.aspx?Id=2070.

CFC से Contact करने के बाद भी अगर आपका Issue resolve ना हो तो आप Reserve Bank of India, Mumbai के National Clearing Cell को Complain कर सकते हो।

National Clearing Cell ने NEFT Help Desk बनाया है। इस Help Desk को आप Email कर सकते हो या फिर चिठी लिख सकते हो। पत्ता नीचे दिया गया है।

Address:- Reserve Bank of India, National Clearing Centre, First Floor, Mumbai Regional Office, Fort Mumbai 400001

Read More:-

क्या NEFT Transaction Track किया जा सकता है ?

NEFT से Fund Transfer करने के बाद Customer को एक UTR(Unique Transaction Reference) Number मिलता है।

इस URT Number के through Transaction को Track किया जा सकता है। अगर आप अपने Transaction को Track करना चाहते है तो अपने Bank के CFC(Customer Facilitation Centre) से Contact कर सकते है।

उम्मीद है आपको NEFT Meaning in Hindi  के बारे मे सारी जानकारी मिल गई होगी।

अगर आपको हमारा ये Post(NEFT Meaning in Hindi) अच्छा लगा तो नीचे Comment करके बताइये।

अपने सभी जान-पहचान वालों के साथ ये जानकारी SHARE कीजिए।

ख़ुश रहे और अपने आस पास सबको ख़ुश रखे।

MOST POPULAR

HOT NEWS